LIFE STORY

Dr. Priyanka Reddy – The Brutal Rape and Murder | Veterinary Doctor Rape Case | Hyderabad Rape Case


तेलंगाना के रंगा रेड्डी जिले का वह गांव शमशाबाद जहां की एक गरीब बेटी पढ़ लिख कर, करी मेहनत कर वेटेरिनरी डॉक्टर बनती हैं और अपने नजदीक के ही कोल्लुरू नामक गांव में नौकरी करने लगती हैं। सब कुछ ठीक ही चलता है कि अचानक से एक दिन 28 नवंबर 2019 को शमशाबाद गांव में मातम पसर जाता हैं, जब गांव की उस कामयाब लड़की यानी डॉक्टर प्रियंका रेड्डी की लाश पहुंचती हैं।

दरअसल डॉक्टर प्रियंका रेड्डी जो एक 26 वर्सिय वेटेरिनरी डॉक्टर थी। 27 नवंबर को दोपहर के वक्त कोल्लूरू नामक गांव से अपनी ड्यूटी ख़तम कर, वह अपनी स्कूटी लेकर अपनी घर के लिये वापस लौट रही थी। लौटते वक्त डॉक्टर प्रियंका रेड्डी टाउन के स्किन डॉक्टर के पास चेक उप के लिए चली जाती हैं, जिसके कारण घर लौटने में देरी हो जाता है।

उसी रात करीब 9 बजकर 22 मिनट पर डॉक्टर प्रियंका रेड्डी अपनी छोटी बहन को फोन करती हैं, और बताती हैं कि उसकी स्कूटी का टायर पंचर हो गया है। डॉक्टर प्रियंका रेड्डी फोन पे बताती हैं कि दो अजनबी ने उसे मदद की ऑफर की, लेकिन टायर रिपेयर नहीं हो सका। डॉक्टर प्रियंका रेड्डी ये भी बतायी कि वह ऐसी जगह पर हैं जहां कई सारे ट्रक ड्राइवर्स हैं, और वह बहुत डरी हुवी हैं। तब डॉक्टर रेड्डी कि बहन बोलती हैं कि वह तुरंत ही नजदीक के टोल प्लाजा पर पहुंच जाए, वह वहां सुरक्षित रहेगी।


डॉक्टर प्रियंका रेड्डी कि बहन 9:45 पर फिर से फोन करती हैं, लेकिन तब डॉक्टर रेड्डी का फोन बंद हो गया था। उसके बाद भी लगातार वह कॉल कर ही रही थी, पर हर बार फोन स्विच ऑफ ही आ रहा था। जिसके बाद डॉक्टर रेड्डी के घर वाले ने शमशाबाद पुलिस स्टेशन में सिकायत दर्ज करवाया।

रंगा रेड्डी जिले के चतनपल्ली गांव के पास से नेशनल हाईवे – 44 गुजरता है, जिसे हैदराबाद – बंगलुरू हाईवे के नाम से जाना जाता है। 28 नवंबर को सुबह 6 बजे जब एक दूधवाला उस हाईवे के ब्रिज के नीचे से गुजरता है, तो उसे वहां पर एक बुरी तरह से जली हुवी लाश नजर आती हैं। दूधवाला जाकर नजदीक के गांववालो को बताता है, और पुलिस को भी जानकारी दी जाती है। पुलिस ब्रिज के पास पहुंचती हैं और छानबीन सुरु करती हैं तो पता चलता है कि 27 नवंबर की रात शमशाबाद पुलिस स्टेशन में एक लड़की यानी डॉक्टर प्रियंका रेड्डी के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। पुलिस अपना काम करते हुवे, डॉक्टर रेड्डी के घरवालों को बुलाती हैं। लाश के गर्दन में गणपति का एक लॉकेट था, जिसकी मदद से परिवार वाले लाश कि पहचान कर लेते हैं।

डॉक्टर रेड्डी कि बहन का बयान लेने के बाद, पुलिस CCTV फुटेज धुंड निकलती हैं और फुटेज के जरिए, इस घटना को समझने की कोशिश करती हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, CCTV फुटेज में दिखा कि 27 नवंबर की शाम तोंदुपल्ली टोल प्लाजा के पास जाकर, डॉक्टर प्रियंका रेड्डी रुकी और अपनी स्कूटी वहीं पर पार्क की। फिर वहां से डॉक्टर रेड्डी गचिबोव्ली के लिए शेयर्ड कैब ली। कुछ घंटो बाद अपनी स्कूटी लेने के लिए, डॉक्टर प्रियंका रेड्डी कैब से ही टोल प्लाजा पर लौटी। लेकिन वह देखती हैं कि उसकी स्कूटी का टायर पंचर हुआ रहता हैं। फुटेज में दिखा कि दो चार लोग डॉक्टर रेड्डी के पास पहुंचे, और मदद का ऑफर दिया। डॉक्टर रेड्डी उन लोगों के साथ टायर पंचर बनाने वाली दुकान जाने के लिए चली गई। CCTV फुटेज में बस इतना ही दिखा।

डॉक्टर रेड्डी कि स्कूटी भी घटनास्थल से 10 किलोमीटर की दूरी पर खरी मिलती हैं, और स्कूटी से नंबर प्लेट गायब रहता हैं। साथ ही डॉक्टर रेड्डी का फोन और पर्स भी मिसिंग हैं। पुलिस घटना कि जांच करती हैं और इस मामले में साइबराबाद पुलिस 4 लोगो को कस्टडी में लेती हैं। उन सबका नाम मोहम्मद आरिफ, जोल्लु शिवा, जोल्लु नवीन और चिंतकुंता चेन्नकेशाबुलू हैं। पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने पहले वेटेरिनरी डॉक्टर प्रियंका रेड्डी को किडनैप किया, चारो लोगो ने मिलकर उसके साथ गैंगरेप किया, फिर उसके बाद गला घोटकर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि हैदराबाद के बाहरी इलाके शमशाबाद में तोंदुपल्ली टोल प्लाजा के पास डॉक्टर प्रियंका रेड्डी के साथ गैंगरेप किया गया, फिर उसके शव को कई किलोमीटर दूर लेजाकर रंगा रेड्डी जिले के एक पुल के नीचे पेट्रोल से जला दिया गया। इस हैवानियत से पूरा देश गुस्से में हैं। सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक लोग इंसाफ की मांग कर रहे हैं।

WATCH THE VIDEO ABOUT DR. PRIYANKA REDDY


Deeproshan Shaw
Author & Founder of DailyLifeInformation.Com, And a graduate bachelor from a beautiful city of Assam who tried his best to make everyone to be informative and self-dependent.
http://Www.DailyLifeInformation.Com

Leave a Reply

Your email address will not be published.